facebook Share on Facebook नई दिल्ली: वैश्विक संकेतों ने शनिवार को देश भर में पेट्रोल की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी करने के लिए मजबूर किया, जिससे घटती आय के बीच बढ़ती खाद्य कीमतों से जूझ रहे उपभोक्ताओं के बजट पर और दबाव बढ़ गया। हालांकि तेल विपणन कंपनियों ने शनिवार को केवल पेट्रोल में वृद्धि की और डीजल की दरों को अपरिवर्तित रखा, जिससे परिवहन क्षेत्र को कुछ राहत मिली। इस हिसाब से दिल्ली में जहां पेट्रोल की कीमत 30 पैसे प्रति लीटर बढ़कर 101.84 रुपये प्रति लीटर हो गई, वहीं डीजल की कीमत शुक्रवार के 89.87 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर रही। देश भर में भी पेट्रोल की कीमत 30-40 पैसे प्रति लीटर के दायरे में बढ़ी, जबकि डीजल की कीमतें अपरिवर्तित रहीं। शनिवार से पहले, तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को ईंधन की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया था, लेकिन गुरुवार को पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में बढ़ोतरी की थी। मुंबई शहर में जहां 29 मई को पेट्रोल के दाम पहली बार 100 रुपये के पार चले गए, वहीं शनिवार को पेट्रोल की कीमत 107.85 रुपये प्रति लीटर की नई ऊंचाई पर पहुंच गई। शहर में डीजल की कीमत भी 97.45 रुपये है, जो महानगरों में सबसे ज्यादा है। सभी महानगरों में पेट्रोल की कीमतें अब 100 रुपये प्रति लीटर को पार कर गई हैं और ओएमसी अधिकारियों ने कहा कि अगर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तेल की कीमतों में मजबूती जारी रही, तो दरें और बढ़ सकती हैं।