facebook Share on Facebook पीलीभीत (उप्र): बरखेड़ा पुलिस स्टेशन के एक सब-इंस्पेक्टर को 29 वर्षीय महिला के साथ दुष्कर्म करने के प्रयास के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। महिला ने आरोप लगाया है कि घटना से कई दिन पहले से आरोपी उसे फोन पर अभद्र टिप्पणियां करके परेशान कर रहा था। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि 15 साल पहले उसके माता-पिता के निधन के बाद उसकी शादी हो गई थी और वह गजरौला पुलिस थाने के तहत आने वाले एक गांव में अपने पति के साथ रहती है। उसके माता-पिता ने खेती की जमीन उसके मानसिक रूप से कमजोर भाई के नाम पर कर दी थी। शिकायतकर्ता का कहना है कि उसकी बड़ी बहन जबरदस्ती भाई को अपने साथ बीसलपुर ले गई, ताकि वह जमीन पर कब्जा कर सके। इसे लेकर उसने करीब एक महीने पहले अपनी बहन के खिलाफ बरखेड़ा पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत की थी। तभी आरोपी एसआई राम गोपाल को उसका मोबाइल नंबर मिल गया और उसने उसे हर रात फोन करके अश्लील बातें करना शुरू कर दिया। एक दिन एसआई ने कहा उसे अपने भाई को बड़ी बहन के घर से वापस लाने के लिए उसके साथ बीसलपुर चलना चाहिए। वह तैयार हो गई और 2 फरवरी को बीसलपुर पहुंचने के बाद उसे पटेल नगर के एक फ्लैट में चलने के लिए कहा, ताकि वे बीसलपुर कोतवाली पुलिस स्टेशन में दर्ज कराने के लिए शिकायत लिख सकें। बस, फ्लैट पर पहुंचते ही एसआई ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया और उसके साथ छेड़छाड़ करने का प्रयास किया। इस दौरान वह फ्लैट से भागने में सफल रही। बाद में एसआई ने उसे धमकी दी कि यदि वो इस मामले का खुलासा करेगी तो वह उसे और उसके पति को झूठे आपराधिक मामले में फंसा देगा। बरखेड़ा के एसएचओ वीरेश कुमार ने कहा कि राम गोपाल पर आईपीसी की धारा 354 ए के तहत मामला दर्ज किया गया था। वहीं एसपी जय प्रकाश यादव ने कहा है, राम गोपाल को जांच पूरी होने तक निलंबित रखा जाएगा। यदि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप झूठे पाए गए, तो उनका निलंबन वापस ले लिया जाएगा अन्यथा मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।