facebook Share on Facebook
पूर्वनी झूला के पास पत्थरों के गिरने से क्षतिग्रस्त हुआ वाहन।
पूर्वनी झूला के पास पत्थरों के गिरने से क्षतिग्रस्त हुआ वाहन।

एन एच 5 पर पूर्वनी झूला के पास गाड़ी पर पहाड़ी से अचानक पत्थर गिरा , वाहन में सवार दोनों व्यक्ति हुए घायल।

 जिला किन्नौर में एन एच 5 सहित सम्पर्क सड़क मार्गों पर  जगह जगह पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं, जिससे एन एच सहित सम्पर्क सड़क मार्गों पर इन दिनों सफर करना जोखिम भरा हो गया है । इसी के चलते  जिला प्रशासन ने भी लोगों से सफर के  दौरान एतिहात बरतने  की अपील की है। सोमवार को भी एन एच 5 पर पूर्वनी झूला के पास एक गाड़ी पर पहाड़ी से  अचानक पत्थर गिर गए  जिससे गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई तथा चालक व अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए।  जानकारी के अनुसार चालक प्रीतम इग्नस गाड़ी एच पी 27 बी 8990 में अपने एक अन्य साथी के साथ अपने घर खदरा जा रहे थे कि पूर्वनी झूला के पास गाड़ी पर पहाड़ी से अचानक पत्थर गिर गए जिससे गाड़ी भी पलट गई।  इस हादसे में चालक प्रीतम व उपेंद्र गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे की सूचना मिलते ही रिकांगपिओ थाना से एएसआई बुद्धि सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा घायलों को क्षेत्रीय चिकित्सालय रिकांगपिओ लाया गया जहां चालक प्रीतम को प्राथमिक उपचार देने के बाद शिमला रेफर कर दिया गया है। 

वहीं उपायुक्त किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने कहा कि किन्नौर जिले में  भारी बरसात के चलते भूस्खलन, सडकों का टूटना, नदी नालों में उफान और भारी बाढ जैसी स्थिति बनी हुई है। पहाडों का दरकना जारी है जिससे जिले में  कुछ दिन पहले जान माल का भी नुकसान हुआ है। उन्होनें जिले के जन साधारण एवं पर्यटकों से आग्रह किया है कि वे नदी नालों के समीप व ऊंचाई वाले स्थानों पर न जाएं तथा सुरक्षित स्थानों पर रहे और किसी प्रकार का जोखिम न उठाए। मुख्य सडक मार्ग व सम्पर्क सडक मार्ग पर अनावश्यक यात्रा से बचें। यदि अति आवश्यक हो तो उपयुक्त मौसम के अनुसार ही यात्रा करें।

उपायुक्त ने जिले के अन्तर्गत सभी होम-स्टे व होेटल मालिकों को भी निर्देश दिए है कि उनके यहां ठहरने वाले पर्यटको को संभावित    प्राकृतिक आपदाओं वाले स्थानों से अवगत करवाएं तथा ऐसे स्थानों पर न जाने के लिए सावधान करें।

उन्होनें जिला की सभी ग्रांम पंचायत प्रधानों गैर सरकारी संगठनो, ट्रैकर्स एवं नागरिको से भी अनुरोध किया है कि वे अपने क्षेत्रों में आने वाले पर्यटकों एवं जन साधारण को जागरूक करे ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके। उन्होनें कहा कि किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा एवं घटना की स्थिति में जिला आपदा प्रबन्धन परिचालन केन्द्र के दूरभाष न0 01786-223151 से 223155 व टौल फ्री न0 1077 पर संपर्क करे। 



more news....