facebook Share on Facebook कांगड़ा: हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा में बारिश ने तबाही मचाई है। धर्मशाला स्थित भागसूनाग में बादल फटने से इतनी बाढ़ आई कि सड़क किनारे खड़ी गाड़ियां बह गईं और मांझी खड्ड उफान पर है। कुदरत का ये भयंकर रूप देखकर लोग सहम गए। बीती रात से ही प्रदेश भर में तेज बारिश हो रही है नदी-नाले उफान पर हैं। पानी के बहाव के कारण वहां साथ लगते होटल भी पानी से लबालब हो गए हैं। धर्मशाला में शिला चौक के पास खड में आई बाढ के कारण तीन मंजिला मकान धवस्‍त हो गया।फायरब्रिगेड की गाड़ियां नहीं पहुंच पा रही। रास्ते अवरुद्ध होने के कारण गाड़ियां नहीं आ जा रही है। मंडी-पठानकोट हाईवे पर राजोल में गज खड्ड पर बना पुल क्षतिग्रस्‍त हो गया है। यहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से रोक दी गई है। हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं। कुछ वाहन चालक वैकल्पिक मार्ग से आवाजाही कर रहे हैं, लेकिन संपर्क मार्ग पर ल्‍हासे गिरने से आवाजाही मुश्किल हो गई है। कांगड़ा के बगली में भारी बारिश से कई मकान बह गए हैं और कई घरों में पानी घुस गया है। मनेड में झुग्गियां बहने से प्रवासियों का बड़ा नुकसान हुआ है। बनोई के पास भी गज खड्ड ने भारी कोहराम मचाया। यहां पर भी घरों में पानी घुस गया और सैलाब सड़क तक आ पहुंचा। लोग इस मंजर को देखकर काफी घबराए हुए हैं। प्रदेश के कई हिस्सों में बीती रात से भारी बारिश हो रही है और ये सिलसिला सोमवार सुबह तक जारी है। भारी बारिश की व जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है। नदी-नाले उफान पर हैं, कई जगह भूस्‍खलन से सड़कों पर आवाजाही भी प्रभावित हुई है। कई जगह भारी बारिश के कारण पानी लोगों के घरों में घुस गया है। मौसम विशेषज्ञों ने 17 जुलाई तक बारिश के साथ ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी की संभावना भी जताई है। इसके अलावा आज किन्‍नौर और लाहुल स्‍पीति को छोड़कर दस जिलों में भारी बारिश के साथ आंधी का अलर्ट जारी किया गया है। छह जिलों चंबा, कांगड़ा, बिलासपुर, शिमला, सोलन व सिरमौर में भारी बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

more news....