facebook Share on Facebook
प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया
प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया
प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया
प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया

प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया ने पिछले कल हुई बारिश से  राजोल में फिर से हुए नुकसान को लेकर मोके पर पहुँचे।पठानिया ने जिलाधीश कांगड़ा स्थित धर्मशाला को फोन के माध्यम से राजोल की स्थिति से करवाया अवगत ।

उसके बाद राजोल  में मोके पहुँचे SDM शाहपुर ओर तहसीलदार शाहपुर |

 अभी तक सरकार प्रशासन द्वारा राजोल में हुए प्रभावित लोगों की सुध न लेने पर  उग्र हुए पठानिया।

 दुबारा बारिश होने से राजोल में बारिश  खड्डों में ज्यादा पानी आने से पिछले कल रात को फिर घरो में पानी घुसने से हुए नुकसान का जायजा लेने पहुँचे प्रदेश कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया, ओर प्रभावित स्थानीय लोगो के साथ दुख की घड़ी में  उनके साथ हुए खड़े ।

पठानिया ने कहा कि सरकार ओर प्रशासन सिर्फ लीपापोती में लगी है सरकार ओर प्रशासन ने आज तक 12-07 -2021 को  हुई भारी बारिश के कारण हुए नुकसान का लोगो की भरपाई नही की ओर कुदरत के कहर से पिछले कल फिर पानी आने से एक दो घरो  को ज्यादा नुकसान हुआ है।जिससे राजोल के स्थानीय निवासी भय के माहौल से जी रहे है।एक महीना होने को आया लेकिन pwd बिभाग sdm शाहपुर, या किसी उच्च अधिकारी ने इस पानी को रोकने की कोई ब्यवस्था नही करने की कोशिश की ।पठानिया ने आरोप लगाया कि जब तक कोई जानमाल का नुकसान नही हो जाता तब तक क्या राजोल निवासियों की कोई मदद नही होगी या प्रदेश सरकार या प्रशासन जानमाल के नुकसान का इंतजार कर रहा है। पठानिया ने कहा कि यहाँ pwd बिभाग ओर प्रशासन को युद्ध स्तर पर कार्य करना चाहिए था लेकिन नही। अगर प्रशासन अभी तक नही जागा तो शाहपुर कांग्रेस स्थानीय लोगो के हितों के लिए सड़कों पर उतरने पर मजबूर होगी। ओर कोई जानमाल का नुकसान होता है तो इसका जिम्मेदार सीधा सीधा प्रशासन होगा।

पिछले कल जिलाधीश महोदय को शाहपुर के अंदर भारी बारिश होने से धारकंडी,चंगर,सेंटर बेल्ट में हुए नुकसान की भरपाई ओर जानमाल के हुए नुकसान को लेकर प्रभावित लोगों को आर्थिक मदद दिलवाने के लिए ज्ञापन सौंपा था।उसके बाद प्रदेश सरकार ने लोगो की मदद की लेकिन सिर्फ नाममात्र।पठानिया ने मांग की थी है।जो परिवार इस भारी बारिश से प्रभावित हुए थे उनको अलग से पांच पांच लाख की मदद की जाए।लेकिन सरकार ने जिनके परिवारों के सदस्य मलबे के नीचे दबने से मौत हुई थी।उनको भी नाममात्र ही मदद की।ओर बाकी प्रभावित लोगों की सुध नही ली।इस मौके पर डॉक्टर यशपाल शर्मा,अश्विनी शर्मा,ओर स्थानीय लोग मौजूद थे।



more news....