facebook Share on Facebook
डाक्टर संजीव गुलेरीया

नुरपुर | आपका फैसला 

 11दिसंबर को शीतकालीन विधानसभा सत्र के दौरान धर्मशाला के तपोवन में न्यु पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ ( एन.पी. एस. ई. ए. ) हिमाचल प्रदेश के आह्वान पर हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा, चम्बा, हमीरपुर, ऊना, मंडी व अन्य जिलों के सैंकड़ों रिटायर कर्मचारी अधिकारी इस विशाल रैली में हिस्सा लेंगे। आज यहां एक पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए डाक्टर संजीव गुलेरीया , प्रदेश अध्यक्ष,  न्यु पेंशन स्कीम रिटायर्ड कर्मचारी अधिकारी महासंघ हिमाचल प्रदेश में डाक्टर संजीव गुलेरीया ने बताया कि जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश को शायद यह जानकारी ही नहीं है कि पुरानी पेंशन बहाल करना राज्य सरकार के ही अधिकार क्षेत्र में आता है।    कहा कि अगर राज्य के अधिकार क्षेत्र में पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करना न होती तो  पश्चिम बंगाल में सरकार अपने कर्मचारियों अधिकारियों को पुरानी पेंशन कैसे दे रही है ? ऐसे मुद्दे उठाकर सरकार को जनहित में जागरूक होने की बात कही। डाक्टर संजीव गुलेरीया ने कहा कि प्रदेश के एक लाख बीस हजार सेवारत एन.पी.एस. कर्मचारी अधिकारी और हजारों पेंशन विहिन रिटायर्ड कर्मचारी अधिकारी सरकार से  आग्रह करते हैं कि पुरानी पेंशन सभी कर्मचारियों अधिकारियों को शीघ्र बहाल की जाए क्योंकि पुरानी पेंशन ही बुढ़ापे में कर्मचारियों अधिकारियों की लाठी है, एक मात्र सहारा है।

डाक्टर संजीव गुलेरीया ने कहा कि पुरानी पेंशन कर्मचारियों अधिकारियों का अधिकार है , पुरानी पेंशन कोई खैरात नहीं। डाक्टर संजीव गुलेरीया ने कहा कि चुनावी घोषणापत्र में सभी पार्टियां जो लोकलुभावन घोषणाएं वोट लेने के लिए मुफ्त देने के नाम पर करती हैं उसे खैरात बांटना कहते हैं।

डाक्टर संजीव गुलेरीया ने सभी सरकारी गैर-सरकारी संगठनों कर्मचारियों अधिकारियों और बेरोज़गारी से ग्रस्त, त्रस्त युवाओं से अपने मौलिक अधिकारों के लिए लड़ने के लिए एकजुट एकमत होकर 11 दिसंबर की रैली में अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करने की अपील की।



more news....