facebook Share on Facebook नई दिल्ली: कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण दौर में केंद्रीय विद्यालय संगठन ने स्कूली शिक्षा को डिजिटल माध्यम से अनवरत जारी रख कर बेहद सराहनीय कार्य किया है। कोविड के कठिन दौर में केंद्रीय विद्यालयों के निर्णयों से उसकी क्षमता का पता चलता है। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने गुरुवार को यह बात कही। निशंक ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा ओडिशा के नयागढ़ और राईरंगपुर में, राजस्थान के हनुमानगढ़ में और हरियाणा के फरीदाबाद में केंद्रीय विद्यालयों के नए भवनों का उदघाटन किया। निशंक ने इसी दौरान केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) द्वारा कोरोना संकट काल में किये कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा, किसी भी संस्थान की ताकत, योग्यता एवं उसकी क्षमता का पता कठिन परिस्थितियों में उसके द्वारा किये गए कार्यों एवं उसके द्वारा लिए गए निर्णय से पता चलता है।

more news....